काश !
नीम के पेड़ो पर ,आम जो लग जाये
या कौवे के तन पर,मोर पंख उग आये
सारी स्विस की बेंकें ,हो जायेगी खाली,
नेताओं के मन में ,ईमान जो जग जाये
घोटू

Advertisements