रिजर्वेशन -स्वर्ग का

बोला पंडित ,स्वर्ग में ,बहलायेगी मन अप्सरा ,
और नरक की यातना से,मुक्ती भी पा लीजिये
चढ़ा मंदिर में चढ़ावा, ब्राह्मणो को दान दे,
रिजर्वेशन ,स्वर्ग का ,खुल्ला है ,करवा लीजिये
हमने पंडितजी से बोला ,इतनी जल्दी ना हमें ,
जिंदगी का ले रहे सुख ,हम हैं खुश इस हाल में
आएगा जब वक़्त वो,पैसा तो ज्यादा लगेगा ,
रिजर्वेशन स्वर्ग का ,मिल जायेगा ‘तत्काल’ में

घोटू

Advertisements